ये उन दिनों की बात है

जब मै मीडिआ में

ग्राफ़िक डिजाइनर  हुआ करता था ,

और जब स्क्रीन पर

कोई केम्पेन देखता था

तो अपनी डायरी में लिखा करता था

की मैं होता तो ये केम्पेन कैसा होता।

           

Leave a Reply

COPYRIGHT 2009, The blog author holds the copyright over all blog posts